सोमवार, 27 मई 2013

HT NO TV DAY

आजकल कुछ खास दिनों को मनाने का प्रचलन बहुत जोरो पर हैं, जैसे hug day,rose day,kiss day,chocolate day,mothers day,fathers day,daughters day,smile day और भी ना जाने क्या क्या ।लेकिन इन सब के बीच "हिन्दुस्तान टाइम्स" एक नई पहल लेकर आया है और पिछले दो सालों से इस मुहिम को सफल भी बना रहा है । HT NO TV DAY एक सार्थक प्रयास ।
          पिछले दो सालों में HT ने ना केवल यह शुभ कार्य प्रारम्भ किया बल्कि इसे सफल बनाने के लिए भी भरसक प्रयत्न किये और निसन्देह: वह इसके लिये बधाई के पात्र है ।
           इस "बुद्धु बक्से" ने हमारी भावी पीढ़ी को पूरी तरह से अपने चक्रव्यूह में फंसा लिया है ।गृहिणीयों की रचनात्मकता और कुशलता भी इसको भेंट चढ़ गई । जो समय परिवार के नाम होता है,वो समय भी ये डकार गया । हमे सब पता है फिर भी........... ।
            मैं यहाँ TV के गुण और दोष नहीं गिनाने वाली हुँ ,वो तो हम सब को पता है ।मेरी इस post का पूरा श्रेय है HT की टीम को , जिनके जज्बे ने हम सबको प्रेरित किया tv बंद करने को ।मैं पिछले एक सप्ताह से पेपर में इनकी गतिविधियाँ देख रही हुँ और कही ना कही उनसे जुड़ी भी हूँ । इनके प्रयास अनुकरणीय है ,इस post के जरिये मैं भी यही संदेश देना चाहती हुँ कि हम सब को इस मुहिम में इनका साथ देना चाहिए । क्या हम अपने घर की बैठक में किसी बाहर वाले को एक दिन भी आने से नहीं रोक सकते ? 
            

2 टिप्‍पणियां:

  1. टी वी घुन की तरह घुस गया है और लील गया है खुद के पलों को ...
    इससे मुक्ति होनी ही चाहिए ... अच्छा प्रयास है ...

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. धन्यवाद नासवाजी.........वाकई सराहनीय है ये प्रयास

      हटाएं